दुनिया कि सबसे पहली फ्लाइंग कार एक शहर से दूसरे शहर भरी उड़ान

दुनिया की पहली फ्लाइंग कार (AirCar) ने भरी उड़ान। इसने पहली बार एक शहर से दूसरे शहर तक सफर ते किया। इस फ्लाइंग कार को AirCar कंपनी द्वारा बनाया गया है। इस महज 2 मिनट मेंकार से प्लेन में बदलने का टाइम लगा। यह आने वाले फ्यूचर में बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है।

अभी तक तो आसमान में केवल लोहे की एरोप्लेन ही उड़ा करती थी। क्या अपने कभी सोचा था कि आसमान में कार भी उड़ेंगी। लेकिन इस बात को AirCar कंपनी ने सच करके दिखा दिया है।
फ्लाइंग कार ने पूरे 35 मिनट की दो शहरों के बीच अपनी पहली उड़ान भरी। सुनने मात्र से ही यह कितना रोमांचक लगता है। लेकिन इसे बनाने में काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ा। और फ्लाइंग कार को बनाने में काफी मेहनत भी करनी पड़ी।

यह भी पढ़े   रविवार की रात को पंजाब नैशनल बैंक में लगी आग, लाखों रुपये का समान जलकर हुआ राख

फ्लाइंग कार ने अपनी पहली उड़ान भरी

इस फ्लाइंग कार को एयरकार कंपनी द्वारा बनाया गया है। इस कार को पहली बार 28 जून को स्लोवाकिया के दो इंटरनेशनल हवाई अड्डों नित्रा और ब्राटिस्लावा के बीच उढ़ाया गया। इन दोनों शहर ने बीच की दूरी को फ्लाइंग कार ने सीरत 35 मिनट में ही तय कर ली।

इस कार को कुछ इस तरह से बनाया गया है कि जमीन के साथ-साथ हवा में भी सफर कर सकती है। यह नॉर्मल कार से फ्लाइंग कार में बदलने में केवल 2 मिनट लगता है।

यह कार 170 किमी प्रतिघण्टे की स्पीड से उड़ सकती है।

इस फ्लाइंग कार की हवा में स्पीड 170 किलोमिटर प्रति घंटे है। इस कार में एक बार तेल भरने के बात करीब यह 8200 फुट ऊंचा और 1000 किलोमिटर की दूरी तय कर सकता है। अभी फिलहाल यह कार टेस्टिंग के दौरान 40 किलोमिटर की उड़ान भरी है।

यह भी पढ़े   महारानी लक्ष्मी बाई एक ऐसी वीर महिला जिसने ब्रिटिश सरकार के विपक्ष मे मजबूत की अपने सैन्य शक्ति को..

AirCar कंपनी का कहना है कि इस कार की स्पीड 300 किलोमेटर प्रति घंटा बढ़ाना है। इस Flyinf Car में 160 होर्स पावर के बीएमडबल्यू इंजन को लगाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *