• October 6, 2022
869ac142616f4f845cb51a24c1c4b072
0 Comments

देश में बीते कुछ सालों से निजीकरण का दौरा चल पड़ा है। वहीं कई सेक्टर में तेजी से निजीकरण हो रहा है। इसके खिलाफ कर्मचारी लगातार विरोध कर रहे हैं। वहीं अब खबर आ रही है कि एक और बैंक जल्द ही एक और सरकारी बैंक का निजीकरण होने वाला है। जिसकी तैयारी भी शुरू हो गई है। वहीं सरकारी कर्मचारी इसके विरोध में लगातार हड़ताल भी कर रहे हैं .

13b508b404711695a1ede5c0b3de7c94

बावजूद इसके सरकार ने अपना पक्ष साफ कर दिया है। सरकार आईडीबीआई बैंक के निजीकरण की प्रक्रिया सितंबर में शुरू करने जा रही है। मीडिया रिपोर्ट की माने तो निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग फिलहाल अमेरिका में आईडीबीआई बैंक की बिक्री के लिए रोड शो किया। इधर सरकार आईडीबीआई बैंक में हिस्सेदारी बेचने की तैयारी कर रही है। अगर ऐसा होता तो दोनों के पास आईडीबीआई बैंक की 94 फीसदी हिस्सेदारी है, लेकिन इनमें कितनी हिस्सेदारी बेची जाए इसे लेकर अभी फैसला नहीं लिया गया है।

यह भी पढ़े   हेलिकाप्टर क्रैश बिपिन रावत शहीद, भावपूर्ण श्रद्धांजली

ऐसा माना जा रहा है कि अगले महीने यानी सितंबर में सब कुछ फाइनल हो जाएगा। वहीं सरकार से फैसले से पहले ही खाताधारकों को सावधान रहने की जरूरत है। अब बात करते हैं सरकार के हिस्सेदारी की तो आईबीडीआई में सरकार की हिस्सेदारी 45.48 फीसदी है, जबकि एलआईसी की हिस्सेदारी 49ण्24 फीसदी है। बताया जा रहा है कि सरकार और एलआईसी आईडीबीआई बैंक में कुछ हिस्सेदारी बेचेगी और फिर खरीदार को मैनेजमेंट कंट्रोल भी सौंप दिया जाएगा। आरबीआई 40 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी खरीदने को मंजूरी दे सकता है।

869ac142616f4f845cb51a24c1c4b072

अब सवाल यह है कि कौन से दो बैंक हो सकते हैं जिन्हें पहले निजी बनाया जाएगा। सूत्रों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया और इंडियन ओवरसीज बैंक को निजीकरण के लिए संभावित उम्मीदवारों के रूप में चुना गया था। यानी इंडियन ओवरसीज बैंक और सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया दो ऐसे बैंक हैं जिनका पहले निजीकरण किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.