भतीजे ने मुआवजे के बहने अपनी ही बुआ के डेढ़ एकड़ जमीन को अपने नाम करवा लिया

कैश बैक का लालच पड़ गया महंगा, अपराधी ने बैंक से 35 हजार रुपये उढ़ाएँ

वैसे तो रोजाना ठगी के मामले सामने आते रहते है लेकिन कुछ लोग रिश्तों में ही ठगी को अंजाम दे देते है और रिश्तों को भी कलंकित कर देते है। ऐसा ही एक मामला रेवाड़ी के ठेठरबाढ़ गाँव से आया है। जहाँ पर एक भतीजे ने अपनी ही सगी बुआ के डेढ़ एकड़ की जमीन को ठग लिया। दरअसल मुआवजे के नाम पर अपनी बुआ को ठग लिया। जैसे ही इस बात की भनक उसके बुआ को लगी तो उन्होंने तुरंत पुलिस में कम्प्लैन की।

भतीजे ने बुआ के डेढ़ एकड़ की जमीन को ठगा

यह धोखाधड़ी को एक 60 वर्षीय बुजुर्ग बुआ के साथ ही कर डाला। 62 वर्षीय बुजुर्ग बुआ शीला देवी का ससुराल राजस्थान के झुंझनु जिले में है। उन्हे रेवाड़ी के ठेठरबाढ में विरासत में डेढ़ एकड़ जमीन मिली है।

एक दिन उस उसका भतीजा आता है और अपनी बुआ से कहता है कि बुआ आपकी ओलावृष्टि से नुकसान हुई फसल का मुआवजा आया है। इसके लिए आपको बैंक में जाना होगा।

पहले तो वह अपनी बुआ को बैंक ले गया जहाँ पर जाकर कहा कि आपके आधार कार्ड में शीला नाम है और जमीन के कागजात में कौशल्या नाम है। पहले इस चेंज करना होगा। इसके बाद वह उन्हे तहसील ले गया और उनकी फोटो ली और कुछ जगह अंगूठा लगवाया। वह अपनी बुआ के जमीन और इंतकाल को भी अपने नाम करवा लिया।

उसके बाद घर लेकर आ गया। जब उसकी बुआ ने पूछा कि अब मुआवजा आ जाएगा तो उसने कहा कि अभी नाम को बदलवाया हूँ कुछ समय में आ जाएगा। फिर कुछ दिन बाद किसी ने यह सारी घटना उन्हे बताई। जिसके बाद वह कई बार पुलिस में मामला दर्ज कारवाई पर उनके मामले पर सुनवाई नहीं किया गया।

इसके बाद वह थक हारकर बुजुर्ग महिला ने डीसी और एसपी के यहाँ आवेदन किया उसके बाद उनके मामले को दर्ज कर लिया गया, और जांच को शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़े   धारूहेड़ा नगर पालिका अध्यक्ष के लिए भाजपा और जजपा ने अपने उम्मीदवार को घोषित किया

Leave a Reply

Your email address will not be published.