• December 7, 2022
panchkula-preparations-of-panchayat-polls-in-haryana-and-government-will-write-latter-to-election-commission
0 Comments

हरियाणा में एक और चुनाव की तैयारी, Panchayat Election की सरगर्मियां शुरू, सरकार आयोग को लिखेगी पत्र

panchkula-preparations-of-panchayat-polls-in-haryana-and-government-will-write-latter-to-election-commission

चंडीगढ़, राज्‍य ब्‍यूरो। हरियाणा में कोरोना संक्रमण कम होने के बाद अब पंचायत और स्थानीय निकायों के चुनाव की सरगर्मियां तेज हो गई हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा है कि 22 अगस्त के बाद प्रदेश सरकार राज्य चुनाव आयोग को चुनाव कराने के लिए चिट्ठी लिखेगी। राज्य चुनाव आयुक्त धनपत सिंह पहले ही कह चुके हैं कि आयोग चुनाव के लिए तैयार है और जैसे ही प्रदेश सरकार लिखित में अनुरोध करेगी, चुनाव प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। हाई कोर्ट में विचाराधीन याचिकाओं का भी निपटारा जल्द होने की उम्मीद है।

पंचायत चुनावों पर सरकार व संगठन स्तर पर मंथन, निकाय चुनावों पर भाजपा चुनाव समिति की बैठक आज

पंचायत चुनावों को लेकर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी ने संसदीय कार्य मंत्री कंवरपाल गुर्जर के निवास पर मंथन बैठक की। इसमें मुख्यमंत्री मनोहर लाल और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ भी पहुंचे। गुर्जर चुनावों के लिए भाजपा द्वारा गठित पंचायत चुनाव समिति के प्रधान भी हैं। बैठक में इस समिति में कुछ और नए सदस्यों को जोड़ा गया है जो जिलों का कोआर्डिनेशन करेंगे। इस समिति का काम नीचे तक समन्वय स्थापित करना है। इलेक्शन कमेटी ही यह निर्णय लेगी कि चुनाव सिंबल पर लड़ा जाए या नहीं।

यह भी पढ़े   प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में आवेदन करते समय रखे इन बातो का ध्यान, गलती हुई तो नहीं मिलेगा मुआवजा

भाजपा ने की पंचायत और निकाय चुनाव एक साथ कराने की सिफारिश

बैठक में पंचायत चुनावों और स्थानीय निकाय के चुनावों को लेकर भाजपा की रणनीति पर चर्चा की गई। भाजपा संगठन ने सरकार से सिफारिश की है कि पंचायत और स्थानीय निकायों के चुनाव एक साथ करा लिए जाएं। वहीं स्थानीय निकायों पर चर्चा के लिए बुधवार को परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा के निवास पर बैठक बुलाई गई है। बैठक के बाद हरियाणा भाजपा अध्‍यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि हम पंचायत चुनाव को लेकर पूरी तरह से तैयार हैं। सरकार पूरी तैयारी कर चुकी है। फिलहाल मामला कोर्ट में है। जैसे ही कोर्ट से हरी झंडी मिलेगी, उसके बाद चुनाव कराए जाएंगे।

चंडीगढ़ में अलग से प्रशासक लगाए जाने के सवाल पर धनखड़ ने कहा कि हम शुरू से ही चंडीगढ़ पर अपने हिस्से की बात करते आए हैं। उचित अनुपात में हरियाणा के अधिकारी चंडीगढ़ में नियुक्त किए जाते हैं। वही अनुपात होना चाहिए, लेकिन निर्णय केंद्र सरकार को करना है। मुख्यमंत्री को लेकर अमेरिका से आ रही धमकी भरी काल पर उन्होंने कहा कि इस तरह की काल पहले भी आई हैं। हमारी सुरक्षा एजेंसियां और पुलिस इस तरह के मामलों से निपटने के लिए पूरी तरह सक्षम है।

यह भी पढ़े   हरियाणा की गलियों में लगने जा रहा है CCTV कैमरा , जानिए सरकार ने क्या बनाया इसको लेकर नियम

तिरंगा यात्रा से बदलेगा प्रदेश का माहौल

धनखड़ ने कहा कि लोहारू और बल्लभगढ़ में भाजपा द्वारा निकाई गई तिरंगा यात्रा सफल रही है। सभी विधानसभा क्षेत्रों में तिरंगा यात्रा निकाली जाएगी। जब सभी 90 हलकोें में यात्रा पूरी हो जाएगी तब प्रदेश में एक अलग ही माहौल होगा।

विधानसभा चुनाव की मतदाता सूची में होगा नाम, तभी कर सकेंगे मतदान

पंचायत चुनावों में वही लोग चुनाव लड़ सकेंगे या मतदान कर सकेंगे जिनका नाम विधानसभा चुनाव की मतदाता सूची में होगा। राज्य चुनाव आयुक्त धनपत सिंह ने बताया कि विधानसभा चुनाव की मतदाता सूची के अनुसार ही पंचायतीराज चुनाव की मतदाता सूची तैयार की जाएंगी। इसी मतदाता सूची को ही वार्ड-वाइज वितरित किया जाएगा।

यह भी पढ़े   1 रुपए का सिक्का 5 लाख में कैसे बेचे कहा बेचे ? जाने 2022

उन्होंने स्पष्ट किया कि इन भावी चुनावों में मतदाता सूची में नाम दर्ज करवाने से पहले नागरिकों को पहले अपना नाम विधानसभा सूची में दर्ज कराना होगा। उसके बाद ही वह पंचायतीराज संस्थाओं के होने वाले चुनाव की मतदाता सूची में नाम दर्ज किया जा सकेगा। किसी भी उम्मीदवार का सही नाम उसके शैक्षणिक सर्टिफिकेट में दिए गए नाम के आधार पर ही सही माना जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.