जानिए क्यों लड़कियों की शादी के उम्र को 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष कर दी गई है।

जानिए क्यों लड़कियों की शादी के उम्र को 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष कर दी गई है।
लड़कियों की शादी के उम्र को 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष कर दी गई है।

केंद्र सरकार ने अभी जल्दी ही लड़कियों की शादी की उम्र सीमा को 18 वर्ष के बढ़ाकर 21 वर्ष कर दिया है। कुछ लोग इस कानून को सही बता रहे है तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी है जो कि इस कानून के खिलाफ है और इस कानून को गलत बता रहे है।

अभी कैबिनेट से यह कानून पास हुआ है। अब लड़कियों की शादी करने की सही उम्र 21 वर्ष हो गई है। जहां लोग शादियों को लड्डू बाटा करते है तो वहीं आज वे लोग शादी के आयु को बढ़ाने की खुशी में लड्डू बाँट रहे है।

 

यह भी पढ़े   क्यों सूरज फटते ही दुनिया खत्म हो जाएगी। 5 अरब वर्ष बाद

लड़कियों की शादी की उम्र को 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष क्यों की गई है?

 

इस कानून से आधे से ज्यादा लोग खुश है। और यह कानून सही भी है। क्योंकि अभी तक लड़कियां कम उम्र में ही शादी करके अपने ससुराल चली जाती थी। और कम उम्र में ही उन्हे बड़ी जिम्मेदारियाँ मिल जाती है। जिसके योग्य अभी वे नहीं थी।

और जैसे कि किसी लड़की की उम्र 18 वर्ष होती थी। माता-पिता को लड़की की शादी की चिंता सताने लगती थी। और वे कम उम्र में ही अपनी लड़कियो की शादी करवा दिया करते थे।

लड़कियों की कम उम्र में शादी होने के कारण उन्हे काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता था। और वे कम उम्र में ही माँ बन जाती थी।

यह भी पढ़े   भारत का सबसे पुराना सिक्का कौन सा है ? जाने हिंदी में ?

और कम उम्र में ही माँ बनने की वजह से उन्हे काफी सारी हेल्थ से जुड़ी बीमारियाँ हो जाती है। और बहुत सी लड़कियां कुपोषण का शिकार होती है। इसके अलावा और भी कई सारे कारण है।

इस वजह से लड़कियों की शादी करने की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष कर दी गई है। अभी यह कानून पास हुआ है। इसे लागू होने में थोड़ा-सा समय लग सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.