कावड़ यात्रा और मेला रद्द, सोशल मीडिया पर भड़काऊ धार्मिक पोस्ट डालने पर होगी कानूनी कार्रवाई

हिसार। कोरोना की दूसरी लहर खत्म होने के बाद अब तीसरी लहर की आशंका जताई जा रही है. और इसी के चलते उत्तराखंड सरकार ने कावड़ यात्रा मेला 2021 रद्द कर दिया है. आपको बता दें कि जिले के लोगों को भी चेतावनी दी गई है कि वे कावड़ यात्रा मेला में शामिल होने के लिए प्रस्थान न करें. हिसार के डीएसपी अशोक कुमार ने बताया कि हरियाणा सरकार ने यह बड़ा फैसला किया है कि अगर कोई भड़काऊ धार्मिक पोस्ट डालेगा तो उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही होगी. कावड़ यात्रा मेला से कोरोना अधिक फैल सकता है, जिससे जाल मान का अत्यधिक नुकसान हो सकता है. इसीलिए तीसरी लहर की आशंका को जताते हुए उत्तराखंड सरकार ने यात्रा मेला को रद्द करने का फैसला लिया है. पिछले 2 साल से पूरा विश्व इस महामारी से ग्रसित है, दूसरी लहर खत्म होने के बाद अब धीरे-धीरे हालत  सुधर रहे है और अब तीसरी लहर की आशंका जताई जा रही है.

यह भी पढ़े   लापता युवक के शव को गाँव के नहर से बरामद किया गया, सुबह टहलने के लिए गया था

kavad

इस वर्ष होने वाले  कावड़ यात्रा मेला को कोरोना महामारी के चलते रद्द कर दिया गया है, जो हर वर्ष श्रावण मास में आयोजित होता है. आमजन से प्रार्थना की गई है कि कोई भी नागरिक कावड़ यात्रा मेले में शामिल होने के लिए न जाएं. यदि कोई भी व्यक्ति कावड़ यात्रा मेला के लिए प्रस्थान करता पाया गया तो उसके विरुद्ध नियम के अनुसार सख्त कार्यवाही भी की जा सकती है.

उत्तराखंड सरकार ने ये चेतावनी जारी की है कि यदि कोई व्यक्ति कावड़ यात्रा के लिए आवागमन करता दिखाई दिया तो उस पर कानूनी कार्यवाही करते हुए उसके वाहन को सीज और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत अभियोग अंकित किया जाएगा. उत्तराखंड सरकार ने लोगों से भी अपील की है कि वह कोई भी भड़काऊ पोस्ट ना डालें और ना ही इस प्रकार की किसी पोस्ट को संप्रेषित करें. पुलिस  सोशल मीडिया की हर गतिविधि पर निगरानी रख रही है, अगर इस प्रकार की कोई भी प्रतिक्रिया दिखती है तो पुलिस उसके विरुद्ध कार्रवाई करेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.