दीपिका कुमारी दुनिया की नंबर वन तीरंदाज कैसे बनी। 10 रुपये से स्टार्ट किया था यह सफर

इस समय दीपिका कुमारी काफी चर्चे में है। और होना भी चाहिए क्योंकि इन्होंने अपने भारत देश के लिए जो बड़ा काम किया है। अगर आपको नहीं पता तो मै बता देता हूँ कि पेरिस में रविवार को चल रहे तीरंदाज (Archery) के 3 टूर्नामेंट में 3 गोल्ड मेडल जीते।

दीपिका कुमारी अब तक भारत को 4 स्वर्ण पदक दिल चुकी है। लेकिन रविवार को हुए पेरिस के टूर्नामेंट में इन्होंने एक दिन में 3 स्वर्ण पदक जीतकर एक इतिहास बना दिया है।

हम आपको बता दें कि दीपिका कुमारी शादी-शुदा है। इनके पति का नाम अतनु दास है। इन दोनों पति-पत्नी ने मिलकर फाइनल मुकाबले को जीता और स्वर्ण पदक को अपने नाम कर लिया।

2016 में दीपिका कुमारी हमारे देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इन्हे पद्मश्री अवॉर्ड से सम्मानित कर चुके है। चलिए दीपिका कुमारी के बारें में थोड़े विस्तार से जानते है।

यह भी पढ़े   India Vs Pakistan, T20 World Cup 2021 Live Streaming

10 रुपये से स्टार्ट किया था अपना यह करिअर

दीपिका कुमारी का जन्म 13 जून 1994 में हुआ था। इनके पिता उस समय एक ऑटो चालक थे, और इनकी माँ मेडिकल कॉलेज में नर्स के पद पर काम कर चुकी है। दीपिका कुमारी को बचपन से ही तीरंदाज में शौक था। पर इसके पिता तीरंदाज के खिलाफ थे।

क्योंकि वह उस समय बहुत ही गरीब थे। किसी तरह से इन्होंने अपने पिता को समझाया। फिर इनके पिता मान गए। लेकिन ये लोग उस समय इतना गरीब थे कि इनके केवल 10 रुपये ही पॉकेट खर्च मिलता था। इन्होंने 10 रुपये से ही अपने इस करिअर को शुरू की थी। और आज यह इस मुकाम पर है।

यह भी पढ़े   तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान की क्रिकेट टीम का क्या होगा

30 जून को मना रहे है दीपिका कुमारी अपनी पहली सालगिरा

दीपिका कुमारी ने पिछले साल 30 जून को एक भारतीय तीरंदाज अतनु दास से शादी की थी। आज 30 जून को उनकी शादी की पहली सालगिरा है। उन्होंने इस स्वर्ण पदक को जीतकर एक दूसरे को सालगिरा का एक अच्छा उपहार दिए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *