• October 6, 2022
images 4 1
0 Comments

फ्रेशर्स के लिए यह फेस्टिव सीजन में धमाकेदार रहने वाला है, क्योंकि अक्टूबर से दिसंबर के बीच भारत में नौकरियों मार्केट का आउटलुक काफी मजबूत है. वैश्विक चिंताओं के बीच करीब 54 फीसदी कंपनियां हायरिंग की तैयारी कर रही हैं. रोजगार पर जारी एक सर्वे के मुताबिक विकासशील देशों के लिए हायरिंग के लिहाज से अगले 3 महीने काफी अच्छे होने वाले हैं. ManpowerGroup Employment Outlook Survey के मुताबिक अक्टूबर से दिसंबर के दौरान लेबर मार्केट का सेंटीमेंट काफी मजबूत दिखाई दे रहा है.

भारत में हायरिंग सेंटीमेंट मजबूत

govt exam preparation

इस सर्वे में 41 देशों के करीब 41 हजार सरकारी और प्राइवेट कंपनियों से बातचीत किया गया है. इसमें हर तिमाही में एंप्लॉयमेंट के ट्रेंड पर भी सर्वे किया गया. जारी सर्वे के मुताबिक भारत में स्टाफिंग लेवल करीब 64 फीसदी बढ़ने की उम्मीद है. नतीजतन, कुल एंप्लॉयमेंट आउटलुक 54 फीसदी है. हायरिंग आउटलुक के लिहाज से भारत केवल ब्राजील से पीछे है. ब्राजील में स्टाफिंग लेवल 56 फीसदी बढ़ने की उम्मीद है. भारत की हायरिंग सेंटीमेंट में पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 10 फीसदी की सुधार देखने को मिली है.

यह भी पढ़े   ग्रेजुएशन में करें इस विषय की पढ़ाई, सैलरी में हर साल मिलेंगे लाखों रुपये

IT, टेक्नोलॉजी सेक्टर में सबसे ज्यादा हायरिंग

कई एक्सपर्ट के मुताबिक, जियोपॉलिटिकल टेंशन के चलते विकासशील देशों को छोड़ दुनिया के अन्य देशों के हालात अच्छे नहीं, लेकिन भारत जैसे देशों की स्थिति काफी बेहतर है. मजबूत हायरिंग सेंटीमेंट के चलते IT इंडस्ट्री में टैलेंट की कमी देखने को मिल रही है. ऐसे में चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में कंपनियां बड़े स्तर पर हायरिंग की सोच रही हैं. आने वाली तिमाही में सभी 11 इंडस्ट्री सेक्टर में पेरोल बढ़ने की संभावना है. सबसे ज्यादा हायरिंग इंटेशन IT और टेक्नोलॉजी सेक्टर में देखने को मिल रही है. इसके बाद बैंकिंग, फाइनेंस, इंश्योरेंस और रियल एस्टेट सेक्टर में है. सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक पिछली तिमाही के मुकाबले 23 देशों में हायरिंग सेंटीमेंट कमजोर हैं, जबकि 16 देशों में हायरिंग आउटलुक मजबूत है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.