फर्म के नाम से फर्जी बिलिंग करने पर केस दर्ज, घटिया किस्म की गेहूं हेरा फेरी , सीआईए को सौंपी जांच

फर्म के नाम से फर्जी बिलिंग करने पर केस दर्ज, सीआईए को सौंपी जांच
सिरसा। किसी अन्य फर्म के नाम से बिलिंग करने के मामले में पुलिस ने डीएसपी की शिकायत के आधार पर केस दर्ज किया है। पुलिस को दिए बयानों में गांव सिकंदरपुर निवासी नवीन गुप्ता ने बताया कि वह मैसर्ज मां भगवती राइस एंड जनरल मिल्स के नाम से फर्म चलाता है।

उसने बताया कि कुछ लोग बाहरी प्रदेशों से सस्ती व घटिया किस्म की गेहूं लाकर हरियाणा सरकार को फर्जी जमींदार के कागजातों के द्वारा सरकारी खरीद में भरवाकर सरकार को करोड़ों रुपए का चूना लगा रहे हैं।

यह भी पढ़े   Red Sand Boa Snake : ''दुर्लभ'' सांप 3 करोड़ मे बेचा जा रहा ,पूलिस ने पकड़ा तशकर को
Court Newshut

उसने बताया कि हापुड की एक फर्म मैसर्ज मक्खन लाल रामेश्वर दयाल, गढ मुक्तेश्वर यूपी, करनाल का सुशील दलाल एवं सिरसा का आढ़ती साजन बजाज मिली भगत एवं जालसाजी से घटिया एवं सस्ती गेहूं, जोकि हरियाणा सरकार की सरकारी खरीद में भरवाते हैं। उसे बड़ी हैरानी हुई, जब यह पता लगा कि माल ट्रांसपोर्ट करने के लिए ये लोग मेरी फर्म के नाम का उपयोग कर रहे हैं।

नवीन ने बताया कि रास्ते के लिए गेहूं के बिल मेरी फर्म मां भगवती राईस एण्ड जनरल मिल्स सिकंदरपुर में जाली बिल बनाए जाते हंै। उक्त लोग मेरे खिलाफ आपराधिक षड्यंत्र रचते हुए पकड़े जाने पर मुझे फंसाने की मंशा रखते हैं। 9 मई 2021 को इनके द्वारा भेजे गए तीन ट्रक जिनमें 300-300 क्विंटल गेहूं था, मार्किट कमेटी सिरसा द्वारा पकड़े गए।

यह भी पढ़े   Petrol Price Today :- अगले सप्ताह से 9 रूपये लीटर तक महंगा होगा पेट्रोल डीजल , कच्चा तेल 110 डॉलर पार

मार्केट कमेटी अधिकारियों ने हमें बुलाया और कहा कि ये गाडिय़ां आपकी है। तब हमें सारे घोटाले का पता चला।

हमने मार्केट कमेटी सचिव व सदर थाना सिरसा को इन ट्रकों को जब्त करके एफ आईआर करवाने को कहा, लेकिन थोड़ी देर बाद पता चला कि मार्केट कमेटी सचिव ने भी मिलीभगत करके सिर्फ मार्किट फीस भरवाकर गाडिय़ों को छोड़ दिया, जबकि यदि उन पर कार्यवाही की जाती है तो बड़े घोटाले का पर्दाफाश हो सकता था।

इससे संबंधित एक शिकायत मैंने 09 मई 2021 को थाना सदर सिरसा में भी दे रखी है। परंतु अभी तक किसी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की गई। इसके बाद डीएसपी को इस संबंधी शिकायत दी गई। डीएसपी की शिकायत पर केस दर्ज किया गया है और मामले की जांच सीआईए सिरसा को सौंपी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.