• August 10, 2022
फिल्में शुक्रवार को ही क्यों रिलीज़ होती हैं
0 Comments

फिल्में शुक्रवार को ही क्यों रिलीज़ होती हैं?

भारत देश में बहुत सालो से आप देखते आ रहे होंगे की जो भी नई फिल्म रिलीज़ होती है वो ज्यादातर फिल्म शुक्रवार को ही रिलीज़ की जाती है और नई फिल्म देखने के लिए लोगो को हफ्ते भर का इंतजार करना पड़ता है क्योंकि फिल्म शुक्रवार को ही रिलीज़ होती है। लेकिन अब एक सवाल यह भी उठता है की फिल्म फिल्में शुक्रवार को ही क्यों रिलीज़ होती हैं, क्या आपने कभी इस बारे सोचा है ,आज हम आपको इस बारे बताते है कि फिल्में शुक्रवार को ही क्यों रिलीज़ होती हैं

यह भी पढ़े   पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी, देश में सबसे सस्ता डीजल 77.13 रुपये लीटर

यह परंपरा 1960 से चली आ रही है ,ऐसा होने के पीछे हॉलीवुड का ही हाथ है 15 दिसंबर 1939 में शुक्रवार के दिन सबसे मशहूर फिल्म गॉन दा विंड रिलीज़ हुई थी, उसी दिन से ही हॉलीवुड में हर फिल्म शुक्रवार को ही रिलीज़ होने लगी थी और प्रीमियम बृहस्पतिवार को होता है।

फिल्में शुक्रवार को ही क्यों रिलीज़ होती हैं
फिल्में शुक्रवार को ही क्यों रिलीज़ होती हैं

लेकिन पहले बॉलीवुड में ऐसा नहीं होता था ,हिंदी की सबसे मशहूर फिल्म नील कमल 24 मार्च 1947 को रिलीज़ हुई थी और उस दिन सोमवार था। लेकिन यह फिल्म बहुत ही बुरी तरीके से पिट गई थी।

शुक्रवार को फिल्म हिट होने के कारण से ही फिल्म शुक्रवार को ही रिलीज़ होती है, और तभी से ही शुक्रवार को फिल्म रिलीज़ होने की एक रिवाज़ सी बन गई थी। और ऐसा इसलिए होता है क्योंकि शुक्रवार वर्किंग डे होता है और शनिवार और रविवार छुट्टी का दिन होता है यानि की इस लोग आराम से फिल्म देख सके। यही कारण है की फिल्में शुक्रवार को ही क्यों रिलीज़ होती हैं

Author

newshutrewari@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.