ऑनलाइन ऑक्सीजन बेचने के बहाने लोगो के साथ फ्राड, पुलिस ने किया गिरफ्तार ..

Faridabad News :- फरीदाबाद की पुलिस ने 5 साँसों के सौदागर को किया गिरफ्तार। ये 5 व्यक्ति अनलाइन आक्सिजन बेचने के नाम पर बनाते थे मूर्ख। पैसा transfer करने के बाद मोबाईल कर देते थे स्विच ऑफ। इनके थोड़े से ज्यादा पैसो की लालच की वजह से कई मरीजों की चली गई जान।

इन अपराधियों ने ज्यादातर दिल्ली NCR के मरीजों को ठगा है। इस फ़्राड गैंग में अलीगढ़ उत्तरप्रदेश का एक जाना माना लुटेरा भी शामिल था। उसके खिलाफ रैप, हत्या, चोरी के पुलिस स्टेशन में दर्जनों FIR दर्ज है।

Oxygen Cylinder
Oxygen Cylinder

पुलिस के द्वारा क्या-क्या बरामद हुआ उनके हवाले से?

पुलिस ने इन्हे हवाले से 8.80 लाख रुपये, 26 एटीएम, 2 आधार कार्ड, 7 स्मार्टफोन, 25 से ज्यादा सिम कार्ड बरामद किये है। इन सब कामों को करने के लिए पाँच लोग शामिल थे। जिसमे से तीन लोग पकड़े जा चुके है।

तीन पकड़े गए लोगों की मदद से बाकी दो लोगों के बारें में पूछ – ताछ हो रही है। जिसमे से विशाल और चंद्रशेकखर अलीगढ़ के निवासी थे, नितहीश कुमार गाजियाबाद का निवासी, ललित मुजफ्फरपुर से और अबिनव दिल्ली से था।

यह भी पढ़े   छेड़छाड़ से परेशान युवती ने लगाया फांसी, आरोपी युवक कर रहा था कई दिन से परेशान

इन सभी अपराधी पर रेप, हत्या, अवैध हथियार सहित कई मुकदमे दर्ज है।

किस तरह ठगते थे लोगों को?

फरीदाबाद के पीढ़ितों के द्वारा बताया जा रहा है कि फोन कॉल पर उन सभी से एक लड़की बात करती थी। इसका मतलब था कि इन गिरोह में एक लड़की भी शामिल थी।जब अप्रैल – मई में कोरोना अपने पीक पर था तो उस समय आक्सिजन की बहुत बढ़ी किल्लत थी। मार्केट में आक्सिजन आसानी से नहीं मिलते थे।

ऐसे में लोग आक्सिजन को जरूरत को पूरा करने के लिए लोग अनलाइन का सहारा लेते थे। ऐसे में ये आरोपी इंडियमार्ट पर अपना अकाउंट को बनाकर बैठे रहते थे। और इन्होंने मल्टीप्लेक्स इंजीनियर पुणे के नाम से फेक कंपनी रेसिस्टर किये हुए थे।ये पाँच लोग मार्केट में मिल रहे आक्सिजन से कम प्राइस बताकर लोगों को सेल करते थे। और ये प्रूफ के लिए लोगों को फेल रसीद दिखा देते थे।अभी तक इन्होंने कई लोगों को ठगा है।अगर आप भी अनलाइन शॉपिंग करते है तो इन जैसे व्यक्ति से बचकर रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.