• September 26, 2022
चालान
0 Comments

दिल्ली में घर पर गाड़ी वही कटेगा अब चालान

जानते है दिल्ली में वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए दिल्ली सरकार ने बिना वैध प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र (पीयूसीसी) वाले वाहन मालिकों को ई-नोटिस भेजना शुरू कर दिया है. और सभी वाहन मालिकों को  वैध प्रमाणपत्र प्राप्त करने अथवा जुर्माना भरने के लिए तैयार रहने को कहा है।

चालान
चालान

नोटिस और 7 दिन का समय ओर मिलेगा

परिवहन विभाग के अधिकारियों ने सुचना जारी की नोटिस भेजने के बाद भी अगर एक सप्ताह में पीयूसी प्रमाणपत्र नहीं बनवाया तो उनके मोबाइल पर 10 हजार रुपये का ई-चालान भेज दिया जाएगा। इसके बाद वर्चुअल तौर पर इसकी जानकारी अदालत को दी जाएगी।

यह भी पढ़े   हरियाणा के लोगों की बदली किस्मत , जानिए मारुति सुजुकी में किसे और कैसे मिलेगा रोजगार

दिल्ली में कुल 17 लाख बिना PUC के वाहन

परिवहन विभाग के मुताबिक आज के समय मौजूदा वाहन दिल्ली में 13 लाख दोपहिया और तीन लाख कारों सहित कुल 17 लाख से अधिक वाहन बिना वैध पीयूसी प्रमाणपत्र के सड़कों पर हैं।

इसमें से 2000 वाहन मालिकों को वैध पीयूसीसी प्राप्त करने के लिए ई-नोटिस भेजकर कहा है कि यदि वे इसे समय पर नहीं प्राप्त करते हैं, तो उन्हें 10 हजार रूपये जुर्माने का सामना करना पड़ेगा और का कारवाही की जाएगी।

पिछले हफ्ते से ई-नोटिस भेजने की प्रक्रिया शुरू की गई है।

जैसा की दो-तीन महीनों के भीतर प्रदूषण बढने का समय आ रहा है, ऐसे में यह सुनिश्चित करना होगा कि हम कुछ हद तक वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करें।

यह भी पढ़े   Job In Haryana : सरकार का बड़ा एलान कोरोना काल में रोजगार खोने वाले को 2022 तक मिलेगी यह सुविधा

सभी लोगो को जरुरत है की अपने वाहन की सही तरिके से जांच करवाए और प्रदूषण को कम करने की दिशा में काम करे ,वैध पीयूसी प्रमाणपत्र प्राप्त करने के लिए लोगों को चेतावनी देना उस दिशा में उठाया गया एक कदम है।

PUC का जुर्माना कितना

अगर बात करे अधिकारियों के मुताबिक वैध पीयूसी प्रमाणपत्र के बिना पकड़े जाने पर वाहन मालिकों को मोटर वाहन अधिनियम के तहत छह महीने तक की कैद या 10,000 रुपये तक का जुर्माना अथवा दोनों का सामना करना पड़ सकता है। जुरमाना देय तिथि तक भरना होगा।

Author

newshutrewari@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.