• January 27, 2023
सुरंग
0 Comments

सुरंग यह दिल्ली स्थित पुरानी विधान सभा में ब्रिटिश काल का फां”सी घर बना हुआ है। ये फां”सी घर अंग्रेजों के जमाने का बनाया हुआ है। आज के समय फांसी घर को देखने के लिए लोग काफी उत्सुक भी है। लोक निर्माण विभाग ने बीते साल सितंबर माह में इसके रिनोवेशन का काम शुरू किया था. और रिनोवेशन के काम पूरा कर लिया गया है।

सुरंग
सुरंग

आला अधिकारियों ने तय किया है कि इसे आम लोगों को भी दिखाया जाए। मगर अभी तक इसे दिखाने को लेकर भ्रम की स्थिति बनी हुई थी। अब इसको दिखने को लेकर स्पष्ट कर दी गई है।

आपको बता दे दिल्ली विधानसभा का निर्माण 1911 में किया गया था और देश की राज धानी को कोल काता से दिल्ली स्थानांतरित करने के बाद इसे केंद्रीय विधानसभा के रूप में इस्तेमाल किया गया था।

यह भी पढ़े   Chanakya Niti: अगर घर में दिखें ऐसे संकेत तो हो जाएं सतर्क, देते हैं बुरा वक्‍त शुरू होने का इशारा!

इस स्थान को महामारी के दौरान समाज के प्रति अपने सर्वोच्च बलिदान और उल्लेखनीय कार्यों के लिए डॉक्टरों, नर्सों और पैरामेडिकल स्टाफ, सफाई कर्मचारियों और शिक्षकों सहित कोविड योद्धाओं को सम्मानित करने के लिए कोरोना युद्ध स्मारक बनाया गया है।

पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने कहा कि दिल्ली विधान सभा का सत्र नहीं होने पर लोगों को इन दोनों स्थानों पर जाने की अनुमति दी जाएगी। ‘फांसी घर’ का इस्ते माल स्वतंत्रता सेनानियों को फांसी देने के लिए किया जाता था। और आला अधिकारियों ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस से पहले ‘फांसी घर’ और कोरोना योद्धा स्मारक खोलने का लक्ष्य सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया है।

यह भी पढ़े   NASA ने उल्कापिंड को सोने की खदान समझकर उसपर खर्च कर दिए लाखों रुपये, अब जाकर पता चली पूरी सच्चाई

लोग अब नवनिर्मित ब्रिटिश काल के “फां”सी घर” (Hanging House) को अब देख सकेंगे इसका रेनोवेशन अब हो चूका है। दिल्ली विधानसभा परिसर का उद्घाटन मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान परिसर में बनाए गए एक ‘कोरोना वारियर्स मेमोरियल’ का भी अनावरण किया और आमजन के लिए खोलने पर वार्तालाप हुआ।

आपको बता दे उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल और उपमुख्यमंत्री राखी बिड़ला भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए। आपको यह भी बता दे की ऐतिहासिक रूप से महत्वपूर्ण दिल्ली विधानसभा में ‘फांसी घर’ के अलावा मुख्य भवन के सेंट्रल हॉल के नीचे एक सुरंग भी है। अधिकारियों ने कहा कि यह अनुमान लगाया गया है कि सुरंग विधान सभा और लाल किले को जोड़ती है इसका एक छोर यहाँ है और दूसरा लालकिला में है । और शुरूआत के दिनो में में इसे मुफ़्त या मामूली 20 रुपए तक के शुल्क पर लोगों को प्रवेश दिया जाएगा. जल्द ही लोग इसका आनंद उठा पाएंगे।

Author

newshutrewari@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *