• October 6, 2022
maxresdefault 1
0 Comments

केंद्र सरकार का बड़ा फैसला।SBI, HDFC, ICICI, और AXIS बैंक के खाताधारकों के लिए बड़ी खुशखबरी। केंद्र सरकार ने तीन बैंकों एचडीएफसी आईसीआई और एक्सिस बैंक के लिए एक बहुत बड़ा घोषणा की है। बैंक में सरकारी योजनाओं का लाभ देने के लिए एफडी तक ब्याज और राशि की जनता आरबीआई द्वारा की जाती है केंद्र सरकार द्वारा निजी क्षेत्रों के बैंकों को सहायता के कृषि ऋन मां की राशि भी दी जाती हैं सरकार के फैसले के बाद इन तीन निजी क्षेत्र के बैंक खाताधारकों की मौत हो गई है।

aac2f8ee0e4939fa62bfa8f3b2a1a48a

आपको बता दें कि यह ऐसा पहली बार है जब सरकार ने तीन निजी क्षेत्र के बैंकों को विदेशी खरीद के लिए वित्त सेवाएं प्रदान करने की अनुमति दी हैं रक्षा मंत्री ने ही इस बात की घोषणा की है रक्षा मंत्रालय के अनुसार इन बैंकों के प्रदर्शन की नियमित रूप से निगरानी की जाएगी ताकि आवश्यकता के अनुसार आगे की कार्रवाई की जा सके।

यह भी पढ़े   यदि किसी व्यक्ति के हैं 2 बैंक अकाउंट तो पढ़ें यह जरूरी खबर, नहीं तो हो जाएगा बड़ा नुकसान

कैसे मिलेगा लाभ।

  केंद्र सरकार ने बताया कि इन बैंकों को 1 वर्ष की अवधि के लिए पूंजी और राज्यसभा पथ पर दो हजार करो रुपए का ऋन पत्र जारी करने की अनुमति दी जा सकती है यह तीन बैंक का विदेशी खरीद और प्रत्यक्षण बैंक बसपा अंतरण व्यवसाय के लिए क्रेडिट पत्र प्रदान करने में सक्षम होंगे।

maxresdefault

केंद्र सरकार के तीन निजी क्षेत्र के बैंकों के लिए एक बड़ी घोषणा की है सरकार ने तीनों बैंकों को विदेशी खरीद के लिए वित्तीय सेवाएं प्रदान करने की अनुमति दे दी है। हम आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने यह सुविधा केवल सरकारी बैंकों को दे रखी थी लेकिन अब निजी क्षेत्र के लिए 3 बड़े बैंकों को भी यह सुविधा मिल गई है। इसके बाद इन बैंकों के खाताधारकों के लिए बहुत ज्यादा फायदा होने वाला है।

यह भी पढ़े   कुरुक्षेत्र विश्विद्यालय में निकली अनेक पदों पर भर्ती , ऐसे करे अप्लाई

केंद्र सरकार ने तीन बैंक को एच डी एफ सी , आईसीआई, एक्सिस बैंक के लिए एक बहुत बड़ा घोषणा की है यह तीनों बैंक निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक हैं। बैंकों में सरकारी योजनाओं का लाभ देने से लेकर एफडी तक ब्याज और राशि की गणना आरबीआई द्वारा की जाती है केंद्र सरकार के नए फैसले के बाद इन बैंक खाताधारकों की मौज हो गई है।

आइए जानते हैं कैसे इन खाताधारकों को होगा फायदा।

maxresdefault 1

केंद्र सरकार के यह तीनों बैंक पहले आरबीआई के निगरानी में रहती थी जोकि कैसे ब्याज देना है कैसे योजना प्रदान करना है यह सब केंद्र सरकार के सरकारी बैंक आरबीआई के निगरानी में होती थी जो कि काफी मुश्किल होता था अब यह निजी बैंक अपने हिसाब से यह तय करेगी कि हमें किसे लोन देना है और किसे क्रेडिट कार्ड देना है इस तरह से कई फायदे हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.