खुशखबरी: फरीदाबाद में दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे के किनारे बनेगा ग्रीन कॉरिडोर

फरीदाबाद :- दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे ग्रीन कॉरिडोर आपको बता दे की बाईपास पर दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे किनारे सेक्टर-37 से सेक्टर-59 तक ग्रीन कारिडोर तैयार किया जाएगा. काम शुरू करने के लिए सर्वे भी अब शुरू किया जा चुका है. फरीदाबाद महानगर विकास प्राधिकरण (FMDA) और हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (HSVP) मिलकर इस कारिडोर को विकसित करेंगे.

अगले वर्ष तक बन जाएगा ग्रीन कारिडोर

अगर जानकारी की बात करे तो उसके अनुसार , जहां-जहां एक्सप्रेस-वे का नाला तैयार हो गया है, वहां जल्द से जल्द ग्रीन कारिडोर पर काम शुरू होगा. दावा किया है कि एक्सप्रेस-वे का निर्माण अगले साल पूरा हो जाएगा. इस दौरान ग्रीन कारिडोर भी तैयार करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. बाईपास पर एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है.

यह भी पढ़े   अनोखी है रोहतक के भाई- बहन की जोड़ी, बहुत छोटी उम्र में वर्ल्‍डवाइड बुक आफ रिकार्ड में नाम हुआ दर्ज

इस 26 किलोमीटर बाईपास एक्सप्रेस-वे का ही एक हिस्सा होगा. आपको बता दे की इसके किनारे एचएसवीपी की ग्रीनबेल्ट पर एक्सप्रेस-वे की सर्विस रोड बनाने का काम चल रहा है. यह अब काफी पेड़ों को काटा जा चुका है. इसकी भरपाई के लिए ही ग्रीन कारिडोर विकसित करने का नया plan बनाया गया है. ग्रीन कारिडोर दर्जनभर से अधिक सेक्टरों को छूते हुए निकलेगा जो आमजन को फायदा पहुचायेगा।

ऐसा होगा ग्रीन कारिडोर

  • 1. कारिडोर के बीच-बीच में पार्क बनाये जायेंगे.
  • 2. साइडों में बेंच लगाई जाएंगी.
  • 3. लोगों के सैर करने के लिए ट्रैक तैयार किया जाएगा.
  • 4. स्ट्रीट लाइट लगाई जाएंगी.
  • 5. सीसीटीवी कैमरे भी लगेंगे.
  • 6 बच्चों-बुजुर्गों को ध्यान में रखते हुए उनके मनोरंजन का ध्यान रखते हुए कार्य किये जायेंगे.
  • 7. सैर का पूरा ध्यान रखा जाएगा.
  • 8. एक्सप्रेस-वे पर दौड़ने वाले वाहनों के धूल-धुंए को कारिडोर के पेड़-पौधे सेक्टर में जाने से रोकेंगे.
यह भी पढ़े   हरियाणा के इन शहरों को मेट्रो से जोड़ने की तैयारी चल रही है, जाने उन शहरों के नाम

इसी के साथ सेव अरावली संस्था के संस्थापक सदस्य जितेंद्र भडाना, कैलाश बिधुड़ी ने बताया कि हर साल सर्दी में लगातार वायु प्रदूषण बढ़ता रहता है. और पोल्लुशण पीएम 2.5 का स्तर 450 तक पहुंच जाता है. इसलिए छेत्र में अधिक पौधारोपण होना अत्यंत आवश्यक है. ग्रीन कारिडोर में लगने वाले हजारों पौधे लोगों को शांति देंगे. यहां लगने वाले हजारों पेड़-पौधे बढ़ते वायु प्रदूषण को बढ़ने से रोकेंगे.

जल्द ही शुरू हो काम – ग्रीन कॉरिडोर

एनडी वशिष्ठ (मुख्य अभियंता, FMDA) जी का कहना है कि अब ग्रीन कारिडोर पर काम शुरू किया जा सकता है. एक्सप्रेस-वे का नाला अभी काफी जगह बन चुका है. और इससे एक्सप्रेस-वे की सीमा तय हो गई है, इसलिए अब बिना बाधाओं के कारिडोर पर काम शुरू कर सकते है. HSVP की तरफ से कारिडोर में पौधारोपण किया जाएगा. तारफेंसिंग सहित अन्य काम एफएमडीए के सहयोग से किये जायेंगे. और कॉरिडोर का काम जल्द से जल्द पूरा होगा।

यह भी पढ़े   New Traffic Rule: आधी बांह की शर्ट पहनकर ड्राइविंग पर चालान? हवाई चप्पल पर भी जुर्माना? ये है ट्रैफिक नियम जान ले
दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे  ग्रीन कॉरिडोर
दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे ग्रीन कॉरिडोर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *